नाइकी (NKE)

कंपनी का इतिहास

Nike एथलेटिक ड्रेस और जूतों की सबसे बड़ी उत्पादक कंपनी है। Nike ब्रांड की विश्व में सहज पहचान है, खासकर Swoosh लोगो और ‘“Just Do It”’ नारे की। कंपनी की स्थापना 1964 में ओरेगन में Blue Ribbon Sports (ब्लू रिबन स्पोर्ट्स) के रूप में हुई थी; आगे चलकर 1971 में इसका नाम बदलकर Nike कर दिया गया। दिसंबर 1980 में कंपनी सार्वजनिक हुई। 1984 में, बास्केटबॉल खिलाड़ी माइकल जॉर्डन ने Nike के प्रचार के लिए एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए और Nike ने Air Jordan athletic shoe (एयर जॉर्डन एथलेटिक शू) का पहला मॉडल जारी किया। NBA ने ये जूते प्रतिबंधित कर दिए और एअर जॉर्डन ने Nike की सफलता में उत्प्रेरक का काम किया। आज Nike अनेक प्रकार के प्रोडक्ट्स तैयार करती है, जिनमें दौड़ने, टेनिस, गोल्फ और स्केबोर्डिंग के जूते और दौड़ने की ड्रेस शामिल हैं। Nike के पास Hurley International और Converse का भी स्वामित्व है, वह Niketown रीटेल स्टोरों का संचालन करती है और ब्रांड की पहचान के लिए अनेक एथलीटों और खेल टीमों का प्रायोजक है।

Nike की ट्रेडिंग: आपको क्या जानना चाहिए

  • Nike की वार्षिक रिपोर्ट और त्रैमासिक आय की रिपोर्टें कंपनी के भावी प्रदर्शन और खरीदने और बेचने के सही समय के बारे में शानदार अंतर्दृष्टि प्रदान करती हैं।
  • Nike की सफलता में मार्केटिंग, विज्ञापन, और एंडोर्समेंट का बहुत बड़ा योगदान है। Nike अपने उत्पादों का इस्तेमाल करने और ब्रांड का प्रचार करने के लिए शीर्ष खिलाड़ियों का सहयोग लेता है। सही समय पर सही एंडोर्समेंट सौदा कीमतों को सीधे प्रभावित कर सकता है, इसलिए ट्रेडरों को कंपनी के नवीनतम समाचारों की जानकारी होनी चाहिए।
  • वैश्विक खेल आयोजन जैसे कि FIFA World Cup (फीफा वर्ल्ड कप) और ओलंपिक Nike को अपने ब्रांड और उत्पादों का प्रचार करने और एंडोर्समेंट और विज्ञापन से लाभ प्राप्त करने का शानदार अवसर प्रदान करते हैं। ट्रेडरों को किसी भी प्रमुख वैश्विक खेल आयोजन के दौरान कीमतों की हलचल पर नज़र रखनी चाहिए।
  • Nike के नए उत्पादों की लाइनें और नवोन्मेष सेल बढ़ाने में भूमिका अदा करते हैं। अगर कोई प्रत्याशित उत्पाद की रिलीज़ उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन करती है तो कीमतों के ऊपर जाने की संभावना होगी, जबकि निराशाजनक सेल का विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।
  • Nike के मुख्य प्रतिस्पर्धियों (जैसे Adidas) का प्रदर्शन भी Nike के शेयरों की कीमत को प्रभावित करेगा। अगर प्रतिस्पर्धियों के शेयरों की कीमतों में भी उतार या चढ़ाव आता है तो यह उपभोक्ता मांग में बदलाव का संकेत हो सकता है।

Nike के स्टॉक की ट्रेडिंग करने के इच्छुक व्यक्ति को कंपनी के बारे में सावधानी से रिसर्च करनी चाहिए और ट्रेडिंग करने से पूर्व विश्लेषण करना चाहिए।

Nike ट्रेड करें